facebook pixel
chevron_right Health
transparent
दर्द में पैरासिटामोल से ज्यादा असरदार है हल्दी, जानें इसके फायदे
चोट, मोच या फिर बुखार में हल्दी को घरों में दवाई से पहले दिया जाता है, क्योंकि ज्यादातर मांओं का मानना है कि दर्द में हल्दी ज्यादा फायदेमंद होती है। शोध में पता चला है कि हल्दी चोट को रिकवर करने में भी सहायक साबित हो सकती है। शोधकर्ताओं का मानना है कि हल्दी, हड्डी और मांसपेशियों के दर्द में भी काफी फायदेमंद होती है।
पेट की जलन को कम करने के लिए अपनाएं ये 11 घरेलू उपाय
आमतौर पर ज्यादातर लोगों को पेट में जलन की समस्या होती है और फिर वे परेशान हो जाते हैं। इसके पीछे कई कारण होते हैं लेकिन पेट में अधिक अम्लता के कारण पेट में जलन शुरू हो जाती है और फिर यह जलन सीने तक पहुंच जाती है। इसके कारण सीने और पेट में व्यक्ति को परेशानी महसूस होने लगती है। पेट में जलन की समस्या कब्ज, भोजन से एलर्जी, बैक्टीरियल सिंड्रोम, अल्सर आदि के कारण होती है।
इन संकेतों से जाने कि आप आवश्‍कता से कम पानी पी रहें हैं..
पानी हमारे स्वस्थ शरीर के लिए सबसे मुख्‍य तत्‍वों में से एक है जो हमें स्‍वस्‍थ बनाएं रखने के साथ बीमारियों से भी बचाता हैं। हमारा शरीर 50 से 70 प्रतिशत पानी के वजह से ही बना हैं। इसलिए हमारे शरीर में पानी की कमी के वजह से कई समस्‍याएं हमें घेर सकती हैं।
प्लास्टिक बैग में स्टोर करके रखी गईं सब्जियां सेहत को नुकसान पहुंचा रही हैं और आपको पता भी नहीं
एंटी-प्लास्टिक और गो ग्रीन पर चल रहे है कैंपेन के बावजूद मार्केट में मिलने वाला ज्यादातर सामान हमें प्लास्टिक बैग में ही मिलता है। कई लोगों के लिए प्लास्टिक बैग जरूरत बन चुका है क्योंकि ये ज्यादा हैंडी होता है और आप इनमें एक साथ ज्यादा सामान भरकर भी ला सकते हैं।
सेहत के लिए फायदेमंद है टमाटर का जूस
टमाटर एक पौष्टिक और गुणकारी सब्जी होती है जो आपके शरीर में आयरन की कमी को दूर करने में मदद करता है। टमाटर में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, फास्फोरस और कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। आज हम आपको टमाटर के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। टमाटर से होने वाले फायदे : अगर आप नियमित रूप से 200 ग्राम टमाटर का जूस पीते हैं, तो इससे आपके शरीर में खून की कमी दूर हो जाती है।
बेली फैट कम करना चाहते हैं तो लहसुन और रेड वाइन कॉम्बिनेशन ट्राई करें
अगर आप उनमें से एक हैं जो वजन घटाने की कोशिश कर रहे हैं तो आपके लिए रेड वाइन और लहसुन का कॉम्बिनेशन बेस्ट विकल्प हैं। बिना किसी डाइट को फॉलो करे आप बहुत ही आसानी से अपना वजन घटा सकते हैं। वैसे कहा जाता है कि डाइट आपकी वेट लॉस जर्नी में काफी मदद करती है लेकिन अगर आप रेड वाइन और लहसुन का कॉम्बिनेशन अपनी डाइट में लेंगे तो काफी जल्दी वजन घटा पाएंगे।
होली खेलना पसंद है लेकिन बदरंग होने से डर लगता है तो ज़रूर पढ़ें ये ख़बर
होली को अब 8 दिन बाकी हैं और इसे मनाने वाले लोग जोर-शोर से तैयारियों में जुट गए हैं। होली खेलना तो बहुतों को अच्छा लगता है लेकिन बाद की कवायद यानी रंग छुड़ाना किसी को पसंद नहीं आता। रंग चाहे जितने हल्के हों, स्किन और बालों को नुकसान पहुंचाते ही हैं। स्किन केयर के लिए त्यौहार से समझौता करने की बजाए अपनाएं ये कुछ उपाय। होली खेलने से पहले स्किन को थोड़ा सा दुलार लें।
रिसर्च: हैंड सैनिटाइजर का उपयोग ले जा सकता है कोमा में
उन्हें लगता है कि ये उन्हें जर्म्स से बचाता है और उनकी सेहत का ख्याल करता है। खाने से पहले इससे साफ करने के लिए कहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि हैंड सैनिटाइजर का उपयोग आपके लिए घातक हो सकता है। हैंड सैनिटाइजर के उपयोग से आप कोमा में जा सकते हैं। हैंड सैनिटाइजरआपके बच्चों के लिए अच्छे से ज्यादा नुकसानदायक साबित हो सकता है।
शरीर के इन 7 अंगों को कभी नहीं छूना चाहिए, कारण जानकर चौंक जाएंगे
अक्सर लोगों की आदत होती है कि वह बैठे-बैठे अपने कान, नाक, आंख और कहीं भी खुजाते हैं या छूते हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि शरीर में ऐसे 6 मह्त्वपूर्ण अंग होते हैं जिन्हें कभी नहीं छूना चाहिए। दरअसल, इन अंगों को छूने की आदत आपको बीमार बना सकती है। इनको छूने भर से इंफेक्शन फैलने का खतरा होता है। अगर आप इस जानकारी से अब तक अनजान थे तो यह खबर आपके काम की है।
क्या आपको भी है कपड़ों से एलर्जी तो अपनाएँ ये घरेलू उपाय
कई बार लोग कपड़ों की वजह से एलर्जी या संक्रमण का शिकार हो जाते हैं। कभी कभार इसके जिम्मेदार वो खुद होते हैं क्योंकि वो नए कपड़ों को खरीदने के बाद बिना धोए ही पहन लेते हैं। जिसके चलते उनके शरीर में खुजली या फिर रैशेज हो जाते हैं। डॉक्टर्स की मानें तो उनका कहना है कि नए कपड़ों को पहनने से भी एलर्जी हो जाती है। जिसके बाद कई क्रीम और दवाएं खाते हैं, लेकिन परिणाम कुछ नहीं निकलता है।
मैग्नीशियम की कमी से हो सकते हैं काफी नुकसान इसलिये खाने में खाएं ये 11 फूड
मैग्नीशियम एक बहुत ही महत्वपूर्ण मिनरल होता है जोकि बॉडी की हर सामान्य प्रक्रिया के लिए जरुरी होता है। यह डीएनए के निर्माण के लिए जरुरी होता है और शरीर के मेटाबोलिज्म में मदद करता है। मैग्नीशियम दूसरे मिनरल्स जैसे जिंक, कैल्शियम आदि के साथ मिलकर आपके ह्रदय, मांसपेशियों और किडनी को मजबूत बनाता है। अगर आपके शरीर में मैग्नीशियम का लेवल 400 mg से कम होगा तो आपको सिर दर्द, हाई ब्लडप्रेशर आदि समस्याएं होने की संभावना बढ़ सकती है।
कड़ाही में बचे हुए तेल का इस्‍तेमाल करने से हो सकता है कैंसर!
घर में अगर कोई त्‍योहार हो और जब तक गरमागर्म पूड़ी और हलवे की महक न आए तब तक त्‍योहार या किसी समारोह का अहसास ही नहीं होता हैं। हमारे यहां वार त्‍योहार समोसे, पूरी, आलू का साग और पकौड़े की महक आनी जरुरी होती हैं। हमारी रसोईयों में बहुत कम ऐसे भारतीय व्यंजन हैं जिन्हें बिना तले बनाया जाता है। तेल हमारे रसाई की सबसे जरुरी चीजों में से एक हैं।
जब बुद्ध ने समझाया कि जीवन का मूल्य क्या है?
तभी एक आदमी ने भगवान बुद्ध से पूछा : जीवन का मूल्य क्या है? बुद्ध ने उसे एक पत्थर दिया और कहा : जाओ और इस पत्थर का मूल्य पता करके आओ, लेकिन ध्यान रखना इसे बेचना नही है। जौहरी ने जब उस बेशकीमती रूबी को देखा, तो पहले उसने रूबी के पास एक लाल कपड़ा बिछाया, फिर उस बेशकीमती रूबी की परिक्रमा लगाई, माथा टेका।
अगर आप भी करते हैं एल्युमिनियम फॉयल का उपयोग तो हो जाएं सावधान
क्या आप भी उन लोगों में से हैं जो रोटी या पराठे को गर्म रखने के लिए एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल करते हैं? बीते कुछ सालों में एल्युमिनियम फॉयल का प्रयोग काफी बढ़ा है। रोटी या पराठे को इसमें लपेटते समय हमें यही लगता है कि इसमें रखी चीजें सेफ और फ्रेश बनी रहेंगी लेकिन क्या सच्चाई भी यही है। शायद आपको पता न हो लेकिन एल्युमिनियम फॉयल में रखा खाना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है।
कैंसर होने से पहले शरीर देता है ये संकेत, बिल्‍कुल भी न करें इग्‍नोर
उस समय तक काफी देर हो चुकी होती है, लाल और सफेद रक्‍त कोशिकाओं का संतुलन बिगड़ने और सेल्‍स का बनना नियंत्रण से बाहर होने के कारण कैंसर होता है। हालांकि पहले इस बीमारी का कोई ईलाज नहीं था लेकिन अब ईलाज है लेकिन देर से ईलाज मिलने की वजह से कई बार मरीज के बचने की सम्‍भावना बहुत ही कम रहती जाती हैं। इसलिए कैंसर के शुरुआती लक्षणों के बारे में मालूम होना जरुरी हैं।
एक ओर से पिघल रहा है इस लड़के का चेहरा, 9 सालों से अपने ही घर में नज़रबंद
स्कूल में सारे बच्चे और यहां तक कि टीचर भी मुझसे डरते। पढ़ाते हुए अक्सर किसी बात पर मेरे उठे हुए हाथ को नजरअंदाज कर देते। मैं रोज घर लौटकर रोता और आखिरकार मैंने पढ़ाई छोड़ दी। अब 19 का हूं। खाना पकाना खूब अच्छा लगता है लेकिन मेरे बिगड़े हुए चेहरे की वजह से कोई काम नहीं देता। पंजाब के भूपेन्दर को न्यूरोफाइब्रोमेटोसिस बीमारी है, जिसमें नर्वस सिस्टम के भीतर ट्यूमर बनने लगते हैं।
क्या आप जानते है पिता के तनाव से बच्चों के दिमाग पर पड़ता है असर
पिता, कृपया ध्यान दें! बहुत ज्यादा तनाव आपके बच्चों के दिमाग के विकास को प्रभावित कर सकता है। एक नए शोध में यह दावा किया गया है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, तनाव पिता के शुक्राणुओं को बदल देता है, जिससे बच्चे के दिमाग का विकास बाधित हो सकता है। शोधकर्ताओं ने कहा है कि नया शोध बच्चों के दिमाग के विकास में पिता की भूमिका की बेहतर समझ प्रदान करता है।
पिता अगर तनाव में है तो होने वाले बच्‍चे के दिमाग पर पड़ सकता है बुरा असर
अगर आपके ऊपर काम का दबाव और तनाव बहुत ज्यादा है, हर वक्‍त तनाव आप पर हावी रहता है तो आज ही सावधान हो जाइए। एक शोध में यह दावा किया गया है कि बहुत ज्यादा तनाव आपके बच्चों के दिमाग के विकास को प्रभावित कर सकता है। शोध के अनुसार, तनाव पिता के शुक्राणुओं में बदलाव लाता है, जिसका असर होने वाले बच्‍चे पर पड़ता है। इससे बच्चे के दिमाग का विकास बाधित हो सकता है।
अगर आप भी हैं दुबली-पतली, तो इस तरह बढ़ा सकती हैं वजन
कुछ महिलाएं ऐसी होती हैं, जो मोटापे से ग्रस्त होती हैं और वह वजन कम करने की कोशिश में लगी होती हैं। आपका वजन सामान्‍य से कम है और आप इसके लिए अपनी डायट और लाइफस्‍टाइल को दोषी मानती हैं। अगर जांच में सब सही निकला तो वजन बढ़ाने के लिए अन्‍य तरीकों को आप जरूर आजमायें। जैसे वजन घटाने के लिए हम योजना तैयार करते हैं उसी तरह हमें वजन बढ़ाने के लिए भी एक योजना तैयार करनी चाहिए।
यूरीनरी ट्रैक्ट संक्रमण में अनार है फायदेमंद, जानें कैसे करें इसका सेवन
यूरीनरी ट्रैक्ट संक्रमण के लक्षणों से राहत के लिए अनार का रस अच्छा उपाय हो सकता है। यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को मूत्र मार्ग संक्रमण भी कहते हैं यह महिलाओं में होने वाली बीमारी है। अनार विटामिन्स का बहुत अच्छा स्रोत है, इसमें विटामीन ए, सी और ई के साथ-साथ फोलिक एसिड भी होता है। जबकि विटामिन सी इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाता है, यह संक्रमण से बचाव करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Want to stay updated ?

x

Download our Android app and stay updated with the latest happenings!!!


50K+ people are using this