facebook pixel
chevron_right Health
transparent
फूड प्वॉइजनिंग के दौरान खाएं यह सब, दोबारा नहीं छू पाएगी बीमारीं
जंक फूड पर निर्भर रहने के कारण आज कल लोगों में फूड प्वॉइजनिंग की समस्या बढ़ रही है। खाने-पीने के माध्यम से शरीर में जब बैक्टीरिया प्रवेश कर जाते हैं तो ऐसे में फूड प्वॉइनजिंग की समस्या जन्म लेती है। ज्यादातर मामलों में फूड प्वॉइजनिंग की समस्या उस वक्त जन्म लेती है जब मनुष्य के शरीर में रोग प्रतिरोध क्षमता कम हो जाती है। फूड प्वॉइजनिंग की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए केफा काफी लाभकारी फल माना जाता है।
अगर आप भी कंप्यूटर पर लगातार काम करते हैं तो अपनी डाइट में शामिल करे चीजें
Share on Facebook Tweet on Twitter tweet अगर आप कंप्यूटर लगातार पर काम करते हैं, तो आपको अपनी डाइट में कई सारी चीजें शामिल करने की जरुरत है। यह आपके हेल्थ को मेंटेन रखेगी। यहां हम आपको बता रहे हैं 8 ऐसी ही चीजों के बारे में जिन्हें कंप्यूटर पर काम करने वालों के लिए खाना जरूरी है. हरा धनिया आंखों की रोशनी बढ़ाने में बहुत सहायक है, इसमें कैरोटेनॉइड होता है जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है।
एड़ी के दर्द सताए तो करें यह उपाय
पूरे दिन की भाग-दौड़ के चलते हम सभी के पैरों में दर्द महसूस होता है। यह दर्द तब महसूस होता है जब आप देर तक खड़ी रहती हैं या फिर ऊंची एड़ी की सैंडल पहनती हों। अगर आपको भी एड़ी में दर्द रहता है तो इसे दूर करने के लिये अपनाइये ये घरेलू उपचार। एड़ी के दर्द को दूर करने के अन्‍य उपाय- 1. गरम ठंडा पानी गरम ठंडे पानी में पैर को बदल-बदल 3 बार रखें।
रखना है खुद को फिट तो ध्यान रखें ये टिप्स, 2 मिनट में जानें अच्छी सेहत की बातें
इसलिए बेहतर है कि खुद को हमेशा दुरुस्त रखें और एहतियात बरतें, ताकि बीमारियों से काफी हद तक बचा जा सके। आज हमने अपना जीवन स्तर खुद ही इस तरह का कर लिया है कि हम बीमारियों को खुद ही निमंत्रण देने लगे हैं। खानपान, रहन-सहन, दिनचर्या, और जीवनशौली में आए बदलाव ने हर चलते-फिरते आदमी को एक बीमारी की दुकान बना दिया है।
माइक्रोवेव में भूलकर भी न रखें ये चीजें, सेहत को हो सकता है नुकसान
Share on Facebook Tweet on Twitter tweet आजकल हर घर में माइक्रोवेव का इस्तेमाल किया जाता है। लोग फास्ट फूड या फिर खाने को गर्म करने के लिए इसका इस्तेमाल करते है। गैस की बजाए इसमें खाना पकाने में कम समय लगता है इसलिए लोग ज्यादातर माइक्रोवेव को इस्तेमाल करते हैं लेकिन इसका इस्तेमाल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हें माइक्रोवेव में नहीं रखना चाहिए क्योंकि यह हमारे सेहत के लिए नुकसानदायक है।
यूट्रस को हेल्‍दी रखने के लिए महिलाओं को खानी चाहिए ये 11 चीजें
महिलाओं के शरीर में गर्भाशय एक बहुत ही अहम अंग होता है क्योंकि यह होने वाले बच्चे का पालन पोषण करने के साथ साथ उसकी सुरक्षा करने का भी काम करता है। आपको बता दें कि स्वस्थ गर्भाशय स्वस्थ प्रेगनेंसी के लिए जरुरी है नहीं तो कई सारी समस्याएं जैसे PCOS(पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम), फाइब्रोइड्स आदि गर्भाशय को प्रभावित कर सकती हैं। गर्भाशय और ओवरी को स्वस्थ रखने के लिए आपको कुछ हेल्दी फूड्स का सेवन करना चाहिए।
तो इस सीक्रेट की वजह से जापानी महिलाएं रहती है Slim और Young..
जब बात एक अच्‍छी हेल्‍दी और लम्‍बी जिंदगी जीने की होती है तो जापानी इसमें हमेशा नम्‍बर 1 होते है। जापान के लोगों विश्‍व के दूसरे देशों की तुलना में लम्‍बा जीवन जीते हैं। वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन भी इस बात को मानता है कि अगर कोई बच्‍चा जापान में पैदा होता है तो वो दूसरे देशों की तुलना में एक स्‍वस्‍थ जीवन जीएंगा। उनकी हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल का ही कमाल है कि यहां की महिलाएं जल्‍दी मोटी और बूढ़ी नहीं होती है।
कहीं फल खाने के कारण तो आप बीमार नहीं हो रहे? इन तरीकों से जानें
बहुत से लोग मानते हैं कि कोई भी फल रात के अलावा कभी भी खाया जा सकता है। हम आपको बता रहे हैं कि कौन से मौसमी फलों का सेवन किस समय किया जाना चाहिए। सेब के बारे में तो कहा ही जाता है कि रोज सुबह खाली पेट एक सेब खाना सारी बीमारियों को दूर रखता है। अमरूद वैसे तो काफी फायदेमंद फल है लेकिन रात में खाने पर यह नुकसान ही करता है।
रोज खाएं सिर्फ 2 लौंग, फायदा देखकर विश्वास नहीं कर पाएंगे आप
लौंग का भारतीय भोजन के अलावा आयुर्वेदिक नुस्खों में भी खास स्थान है। इसके उपयोग से खाने में स्वाद तो आता ही है। दवाओं के रूप में इसका इस्तेमाल करने से कई हेल्थ प्रॉब्लम में भी फायदा होता है। लौंग में आपकी हेल्थ को मेंटेन रखने और प्रॉब्लम्स से बचाने के कई गुण होते हैं। अगर रोजाना 2 लौंग खाई जाएं तो इसके अद्भुत फायदे मिलते हैं। इन फायदों से आपका शरीर हमेशा के लिए रोगमुक्त हो जाता है।
दफ्तर में काम के बीच नींद को है भगाना तो ये चीजें बिलकुल मत खाना
कई बार हमें काम करते-करते जब नींद आती है या आलस आता है तो उबासियां आने लगती हैं। और अगर आप कहीं किसी सार्वजनिक जगह पर हैं और वहां आपको उबासी आ जाए तो काफी अजीब लगता है। जब काम के बीच में हमें उबासी आती है तो पूरा काम तहस-नहस हो जाता है। ब्रेड में कार्ब्‍स की भारी मात्रा पाई जाती है, जो आपके खून में शुगर लेवल को बढ़ाने में मदद करती है।
जब मुझे पहली बार पीरियड्स हुए तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था
पढ़ाई-लिखाई में मेरा डब्बा पहले ही गोल था, लेकिन उतना नहीं जितना मेरे छोटे भाई का था। वो मेरे से ज्यादा डांट खाता था और कई बार तो मम्मी पढ़ाते-पढ़ाते उसकी कॉपी-किताब गुस्से में दूर फेंक देती थीं। जब भी मैं अपने परिवार वालों के साथ बाहर जाती थी तो मुझे ऐसे ही कुछ झेलना पड़ता था। खेलने के बाद जब मैं दोबारा बाथरूम में गई तो देखा कि मुझे पीरियड्स होने शुरू हो गए हैं।
अगर आप दुबले पतले दिखते हैं तो वजन बढ़ाने के लिये खाएं ये 12 चीज़ें
जिस तरह से वजन घटाना एक मुश्‍किल काम होता है उसी तरह से वजन बढ़ाना भी कोई आसान काम नहीं है। लेकिन अगर आपकी डाइट अच्‍छी हो और वह बैलेंस हो तो किसी भी काम में कोई दिक्‍कत नहीं है। वजन बढ़ाने के TIPS: दुबली-पतली लड़कियों के लिये रामबाण उपाय वजन में बराबर और धीमी वृद्धि की हमेशा सलाह दी जाती है। हमें अपना वजन अपनी उम्र, लिंग और ऊंचाई के अनुसार बनाये रखना चाहिए।
अपने पेट का भी रखें ख्याल, नहीं तो बन जाएगा 'बीमारी का मटका', 2 मिनट में जानें
जीवन स्तर में बड़ी तेजी से बदलाव आए हैं। बहुराष्ट्रीय कंपनियों के वर्किंग कल्चर ने लोगों की दिनचर्या ही बदल कर रख दी है। कुर्सी पर बैठे हुए लगातार 9-10 घंटे काम करना बीमारियों को दावत दे रहा है। रही सही कसर खान-पान में आए बदलाव ने पूरी कर दी है। पति-पत्नी, दोनों के वर्किंग होने पर घर का खाना बहुत से लोगों के लिए गुजरे जमाने की बात हो गई है। इसका सीधा असर हमारी सेहत पर पड़ रहा है।
इन वजहों से कम नहीं होती है पेट में जमा चर्बी
जब आप मोटापा कम करने के लिए कोशिश करते है तो एक्‍सरसाइज और डाइट की वजह से कुछ हद तक आपको आपके बॉडी में फर्क दिखना नजर आता है। लेकिन सबकुछ करने के बावजूद भी शरीर के कुछ हिस्‍सों का फैट जाने का नाम नहीं लेते है। कभी आपने सोचा ऐसा क्‍यूं? दरअसल हमारी लाइफस्‍टाइल और खाने की वजह से हमारी बॉडी में जिद्दी फैट बन जाता है। जिस वजह से शरीर से यह फैट नहीं जाता है।
अगर आप भी नहीं हो पा रही है प्रेग्नेंट तो अपनाए ये उपाय
Share on Facebook Tweet on Twitter tweet हर लड़की मातृत्‍व सुख चाहती है। अपनी संतान को जन्‍म देकर उसके साथ खेलना चाहती है। घर में एक बच्‍चा हो तो तमाम तरह के तनाव स्‍वत: विदा हो जाते हैं। शादी के बाद बहुत दिनों तक बच्‍चा पैदा न हो तो ढेर सारे तनाव घेर लेते हैं। संतान न होने से अनेक प्रकार के ताने व यातनाएं भी झेलनी पड़ती हैं।
वर्कआउट और डायटिंग के बाद भी मोटापा कम नहीं हो रहा है तो जानें कारण
बहुत से लोग वजन कम करने के लिये जिम और योग ज्‍वॉइन करते हैं लेकिन उनमें से केवल कुछ ही लोग अपने लक्ष्‍य तक पहुंच पाते हैं। अगर आप भी अपना वजन कम करने में लगे हुए हैं लेकिन कम नहीं कर पा रहे हैं तो इसके पीछे कई छुपे हुए कारण हैं। खास बात यह है कि अगर आपको वजन कम करने का सही तरीका ना पता हो, तो आप कभी अपना वजन नहीं कम कर सकते।
आंखों के नीचे काले घेरे बन गए हैं? महंगा इलाज छोड़ अपनाएं ये घरेलू नुस्खे
भागती-दौड़ती लाइफस्टाइल में आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स बहुत आम हैं। मेकअप से इन्हें छिपाने की जगह थोड़ी देखभाल से इन्हें पूरी तरह से हटा सकते हैं। जब आंखों की खूबसूरती के लिए इतना कुछ करते हैं, तो आंखों की हिफाजत के लिए भी थोड़ा जतन करें। हम आपसे शेयर कर रहे हैं कुछ टिप्स, जिससे कुछ ही वक्त में आपको डार्कनेस कम नजर आएगी। इसके लिए विटामिन-ई युक्त तेल लगा सकते हैं।
सबके सामने छींकने में संकोच कैसा? छींकें ही तो हैं कोई चोरी थोड़े की है
यकीन मानिए थोड़े समय पहले मैं ऐसे ही वेबसाइट पर आर्टिकल सर्च कर रही थी। मैंने जब यह पढ़ा तो मुझे झटका लगा और छींक को रोकने का क्या नुकसान होता है यह भी पता चला। उनकी यह परेशानी इतनी विशाल हो चुकी थी कि डॉक्टर्स को उन्हें एक हफ्ते तक हॉस्पिटल में ही रखना पड़ा। डॉक्टरों की जांच करने के बाद उन्हें पता चला कि गले से नीचे रिबकेज में एक आवाज सुनाई दे रही थी।
आयुर्वेद कहता है कि क्यों सेहत के लिए मिल्कशेक लेना अच्छा आइडिया नहीं है
क्या आपको मिल्कशेक पसंद हैं? ताज़ा कटे रसभरे फल का स्वाद और साथ ही थोड़ा दूध और दही को ब्लैंड किया गया हो, तो मज़ा ही आ जाए। दोबारा सोचिए! कई बार जब हम दो अलग-अलग तासीर की चीजों को मिक्स करते हैं, तो वह हमारी सेहत के लिए हानिकारक साबित हो जाता है। बल्कि यह कहिए कि दो अलग तासीर के खाद्य पदार्थ एक साथ खाने से हमारी पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
आयुर्वेद बताता है कि सर्दियों में क्या खाएं कि रजाई में न घुसे रहें बल्कि उठकर दौड़ लगाएं
हम तीन तरह की इम्युनिटी लेकर पैदा हो सकते हैं। एक सहज- यानी जिस नैचुरल इम्युनिटी के साथ हम पैदा होते हैं। दूसरा कलज (मौसमी)- यानी जो बदलते मौसम के साथ बनती और बिगड़ती है। और तीसरा युक्तीक्रिती- इसमें इम्युनिटी आपकी साधारण और रेगुलर बैलेंस डाइट से बनती है, जिसमें आपको रोज योग करना जरूरी होता है। आज हम इसी इम्युनिटी को बेहतर करने पर चर्चा करेंगे। ये तीसरी तरह की इम्युनिटी आपको सर्दियों में काफी परेशान करती है।

Want to stay updated ?

x

Download our Android app and stay updated with the latest happenings!!!


50K+ people are using this