facebook pixel
chevron_right Lifestyle
transparent
रेसिपी video: चॉकलेट खाने का मन हो तो बनाएं चोको लावा कुकीज़
140 ग्राम मैदा 85 ग्राम बटर 125 ग्राम आइसिंग शुगर 90 ग्राम मेल्टेड चॉकलेट 40 मिली मिल्क 1 चम्मच बेकिंग पाउडर 25 ग्राम कोको पाउडर 7-8 चोको पीस चोको लावा कुकीज़ बनाने के लिए सबसे पहले मिक्सिंग बाउल में बटर डाल उसे अच्छी तरह से फेंट लें। मैदा, बेकिंग पाउडर और कोको पाउडर डालकर आटा तैयार करें। इसमें चॉकलेट क्यूब्स डालकर अच्छे से मिला लें। इसकी कुकीज़ तैयार कर बेकिंग ट्रे में रखें और 198 डिग्री सेंटिग्रेट पर 132 मिनट के लिए बेक करें।
स्कूल में नहीं था टॉयलेट, पहली बार पीरियड आने पर मां-बाप ने छुड़ाई पढ़ाई
रात में भूख को प्यास में न बदलना पड़े और स्कूल में लड़कियों के लिए एक टॉयलेट हो। घर में पीने के पानी के लिए नल या कुआं नहीं है इसलिए दूर एक हैंडपंप से पानी लाना होता। कई बार आसपास लोगों के होने के कारण टॉयलेट नहीं जा पाते थे और फिर दिनभर पेट में दर्द रहता। दूसरे दिन स्कूल के कपड़े पहन रही थी तो मां ने कहा कि अब से मैं स्कूल नहीं जाउंगी।
श्रुति हासन ब्यूटी टिप्स: श्रुति हासन की तरह खूबसूरत त्वचा दिलाने में आपकी मदद कर सकता है चारकोल से बना फेस मास्क, जानिए कैसे
श्रुति हासन बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत और फिट अभिनेत्रियों में से एक हैं। तो चलिए आज हम जानते हैं कि चारकोल फेस मास्क लगाने से आपकी त्वचा को क्या-क्या फायदे होते हैं। दो तरह के चारकोल में एक असली कच्चे कोयले का बना होता है जिसका इस्तेमाल चेहरे आदि पर नहीं किया जाता। संबंधित खबरें चारकोल के ब्यूटी बेनेफिट्स -. चारकोल गंदगी, प्रदूषण और जर्म्स आदि को अवशोषित कर आपकी त्वचा से बाहर निकाल देता है।
अगर आप भी इस दिशा में लगाते है घड़ी तो हो जाए सावधान
Share on Facebook Tweet on Twitter tweet अगर आप भी वक्त की मार से परेशान है और आपका समय भी आपका साथ नहीं दे रहा है तो यह खबर आपके लिए ही है। दरअसल वास्तु के कुछ ऐसे उपाय आज हम आपको यहां पर बता रहे हैं जिन्हे करने के बाद आपका समय अच्छा हो जाएगा। इसके लिए बस आपको अपने घर में लगी घड़ी कि दिशा बदलनी होगी।
रथ सप्तमी 2018: सालों बाद बना है ऐसा संयोग, सूर्यपूजा से दूर होंगे सारे कष्ट
पूरे विधि-विधान से ये पूजा करना सेहत संबंधी सारी परेशानियां दूर करता है। इस दिन दस सालों के बाद ऐसा संयोग बना है कि सूर्यदेव की पूजा मात्र से सारे कष्ट दूर हो सकते हैं। मान्यता है कि इस दिन सूर्यदेव को जल अर्पित करने से शरीर रोगमुक्त हो जाता है। माना जाता है कि जिन्हें कोई भी शारीरिक विकार हो, वे लोग अगर पूरे मन से सूर्यदेव की पूजा करें तो सारे शारीरिक कष्ट दूर हो जाते हैं।
बुधवार की गणेश पूजा में रखें इन बातों का ध्यान, सारी इच्छाएं होंगी पूरी
आखिर में मन ही मन भगवान का ध्यान करते हुए इस मंत्र का 108 बार जाप करें- ॐ गं गणपतये नमः। गणेश जी की कथा बहुत से लोग किसी भी काम का शुभारंभ करने से पहले सबसे पहले श्रीगणेशाय नम: लिखते हैं। इसके पीछे मान्यता है कि गणेश जी की पूजा करने से किसी भी शुभ कार्य में कोई बाधा नहीं आती है। तब से ही हर काम की शुरुआत गणेश जी की पूजा से की जाती है।
प्रभास फिटनेस टिप्सः चार हजार कैलोरी की डाइट और 6 घंटे वर्कआउट, आसान नहीं था प्रभास के लिए 'बाहुबली' बनना
भारत में क्रिकेट के बाद अगर किसी चीज ने समूचे देश को एक किया था तो वो थी फिल्म बाहुबली। इसके पीछे फिल्म के निर्माताओं की जितनी कड़ी मेहनत थी उतनी ही मेहनत फिल्म में लीड रोल प्ले करने वाले प्रभास ने भी की थी। ऐसा कहा जाता है कि बाहुबली के दूसरे भाग में काम करते वक्त प्रभास का कुल वजन 150 किलो था। प्रभास का वर्कआउट प्लान- बाहुबली बनने के लिए प्रभास दिन में तकरीबन 6 घंटे जिम में बिताते थे।
25-45 साल के पुरुषों में सुंदर दिखने की जबरदस्त चाहत, ब्यूटी प्रोडक्ट्स खरीदने में महिलाओं को पीछे छोड़ा
यह माना जाता है कि महिलाएं साज-श्रृंगार के मामले में पुरुषों से आगे हैं लेकिन एक रिपोर्ट के अनुसार सुंदर दिखने की आकांक्षा युवाओं में कम नहीं है। उद्योग मंडल एसोचैम की एक रिपोर्ट के अनुसार 25 से 45 वर्ष के पुरुषों ने रूप सज्जा तथा सौंदर्य प्रसाधन पर खर्च के मामले में महिलाओं को पीछे छोड़ दिया है। पुरुषों के सौंदर्य प्रसाधन में आय के लिहाज से फिलहाल दाढ़ी बनाने के उत्पादों का बाजार सर्वाधिक है।
लाइफ़ कोच: और आपने हर बुराई का ठीकरा अपने ही सिर फोड़ रखा है
वो उसका पहला फैमिली पिकनिक रहा होगा। सर्दियों के सुंदर-सुनहले दिन, तिसपर जंगल और झरने का मारक कॉम्बिनेशन। परिवार के बड़े एक ओर थे, सिर से सिर जुड़ाए बात करते हुए। बच्चों को निर्देश मिला कि वहीं बड़ों के पास बैठे रहें लेकिन न तो उनकी बात सुनें और न ही कोई बात करें।
सर्दी, खाँसी और बुखार- सर्दियों की इन घातक बीमारियों से बचाव अब संभव
सर्दियों के दौरान ठंड, सर्दी, खाँसी और बुखार जैसी विभिन्न बीमारियों में बढ़ोतरी होती है। यह मुख्य रूप से वायरस के बढ़ते प्रसार के कारण होता है। जुकाम एक संक्रामक बीमारी है जो बहुत जल्दी बढ़ती है। यह बीमारी बहती नाक, बुखार, सुखी या गीली खाँसी अपने साथ लाती है, जो श्वसन तंत्र पर अचानक हमला करता है। इसके कारण नाक बहना, छींकना, थकान, तीव्र बुखार, ठंड लगना, नाक जाम, और खाँसी जैसे बीमारियों में तेजी आती है।
होठों पर मुहांसे हटाने में मददगार हो सकते हैं एलोवेरा, हल्दी और गाजर के तेल से बने ये नुस्खे, जानें बनाने की विधि
होठों पर होने वाले मुहांसों का अगर हम तत्काल कोई इलाज नहीं करते तो इसका संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। ऐसे में आपको और मुहांसे झेलने पड़ सकते हैं। पिंपल्स यानी कि मुहांसे चेहरे के किसी भी हिस्से में हो सकते हैं, लेकिन जब ये होठों जैसे संवेदनशील हिस्सों में दस्तक देते हैं तो यह काफी तकलीफदेह होता है। होठों पर होने वाले मुहांसों का अगर हम तत्काल कोई इलाज नहीं करते तो इसका संक्रमण फैलने का खतरा रहता है।
रेसिपी: शाम के नाश्ते में झटपट बनाएं चिली गार्लिक क्रिस्पी मशरूम, प्रोटीन से भी है भरपूर
सामग्री 1/2 बाउल मशरूम 2 चम्मच मैदा 2 चम्मच कॉर्नफ्लार 1 चम्मच गार्लिक पेस्ट 1 चम्मच हरी मिर्च 1/2 चम्मच सफेद मिर्च 1/2 चम्मच काली मिर्च नमक स्वादानुसार विधि सबसे पहले मिक्सिंग बाउल में मशरूम डालें। अब इसमें मैदा, कॉर्नफ्लार, गार्लिक पेस्ट, हरी मिर्च, वाइट पैपर, काली मिर्च और नमक डालकर पानी के हल्के-हल्के छींटें देकर मिलाएं। इसे डीप फ्राय करके बाहर निकाल लें। ऊपर से नमक और सफेद मिर्च छिड़कें। तैयार है चिली गार्लिक क्रिस्पी मशरूम, इसे गर्मागर्म सर्व करें।
जानें क्यों गर्भवती महिला को नहीं जाना चाहिए मृत व्यक्ति के पास
Share on Facebook Tweet on Twitter tweet भारत में कई परम्पराएँ व रीति-रिवाज ऐसे है जो आज भी प्रचलन में है जिन्हें कई बार निभाना बहुत कठिन हो जाता है। ऐसी है एक रीत है कि किसी भी गर्भवती स्त्री को किसी मृतव्यक्ति की देह के पास जाना शुभ नहीं माना जाता है किन्तु कई लोग इसे अंधविश्वास मानते है और इस बात पर ध्यान नहीं देते है।
योग व्यक्ति होता तो कैसा होता?
क्या आपने कभी सोचा है योग अगर कोई व्यक्ति होता तो कैसा होता। क्या एक दोस्त की तरह, किसी डॉक्टर की तरह, किसी कलाकार या फिर किसी समझदार बुजुर्ग या फिर किसी आरामपसंद और अनुकूल इंसान की तरह होगा। उसका आपकी जिदंगी में आखिर कैसा रोल होता। कैसा हो अगर हम कहें कि योग इन सब की भूमिका निभाता है? यह सब कुछ है।
Subhas Chandra Bose Quotes: 'दुश्मन का दुश्मन होता है दोस्त' नेताजी बोस के इन 10 विचारों से आज भी मन में जाग जाती है क्रांति
नेताजी को अपने देश से बहुत प्रेम था और अपनी जिंदगी देश को समर्पित कर दी थी,नेताजी क्रांतिकारी दल के प्रिय थे। महात्मा गांधी और नेताजी बोस के विचार भिन्न होते हुए भी दोनों का मकसद देश की आजादी ही था। Netaji Subhas Chandra Bose Quotes: नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 में उड़ीसा के कटक में हुआ। नेताजी के पिता जानकीनाथ कटक के मशहूर वकील थे और उनकी माता का नाम प्रभावती था।
बदल रहा भारत घर में चाहता है बेटी, दलित-मुस्लिम सबसे आगे
बेटियों को लेकर भारतीय समाज की सोच बदल रही है और अब देश बेटियों को गर्भ में ही मार देने जैसी सोच से कहीं आगे बढ़ता नज़र आ रहा है। बेटी की चाहत रखने वाले धार्मिक और जातीय समुदायों में दलित, आदिवासी और मुस्लिम सबसे आगे हैं। हालांकि इस सर्वे में ये आंकड़ा बदल कर 81% ग्रामीण जबकि 75% शहरी महिलाओं में तब्दील हो गया है। 79% बुद्धिस्ट और 79% हिंदू महिलाओं का मानना है कि घर में कम से कम एक बेटी होनी चाहिए।
वे चिढ़कर बोले- अब कुड़ियां भी ढोल बजाएंगी? मैं बोली-
अब 19 साल की जहां गीत सिंह देश की सबसे कम उम्र की महिला ढोली (ढोल बजाने वाली) मानी जा रही हैं। वे बताती हैं कि 5 मिनट तक ढोल बजाने में एक घंटा जिम करने जितना पसीना बहता है। वे दरअसल मेरे साथ खुद भी खोज रहे थे कि मैं किस पर ठिठकती हूं। ज्यों ही उन्होंने ढोल कहा, मैंने तपाक से कहा- हां, मैं ढोल सीखने को भी एक ट्राय देना चाहती हूं।
वास्तु टिप्स: बार-बार काम बिगड़ रहा है? घर के भीतर लगा पौधा भी हो सकता है वजह
हर कोई अपने घर का सपना देखता है। शहरों में खासकर खुद का घर होना काफी खुशी देता है, हालांकि कई बार अपने घर में रहते हुए भी उसमें सकारात्मक ऊर्जा की कमी लगती है। इसके लिए आपका वास्तु भी जिम्मेदार हो सकता है। कुछ सामान्य सी बातों का ख्याल रखना घर के भीतर सकारात्मक ऊर्जा ला सकता है। हम आपसे साझा कर रहे हैं वे तरीके। घर के भीतर गैरजरूरी सामान रखने से बचें।
कहीं फल खाने के कारण तो आप बीमार नहीं हो रहे? इन तरीकों से जानें
बहुत से लोग मानते हैं कि कोई भी फल रात के अलावा कभी भी खाया जा सकता है। हम आपको बता रहे हैं कि कौन से मौसमी फलों का सेवन किस समय किया जाना चाहिए। सेब के बारे में तो कहा ही जाता है कि रोज सुबह खाली पेट एक सेब खाना सारी बीमारियों को दूर रखता है। अमरूद वैसे तो काफी फायदेमंद फल है लेकिन रात में खाने पर यह नुकसान ही करता है।
मंगलवार को हनुमान जी की पूजा करते हों तो ज़रूर पढ़ लें इसे, सारी बाधाएं होंगी दूर
वैसे तो इस दिन कई देवी-देवताओं की पूजा की जाती है लेकिन आज के दिन रामभक्त हनुमान की पूजा का विशेष महत्व है। विधि-विधान से पूजा से हनुमान भगवान प्रसन्न होते हैं और सारी बाधाएं दूर होती हैं। हनुमान जी की पूजा के बाद मंगल देव का ध्यान कर लाल चन्दन लगे लाल फूल और अक्षत लेकर श्रीहनुमान को अर्पित करें। हनुमान जी को सुबह के समय कच्चे या पके नारियल और गुड़ या फिर गुड़ के लड्डू का भोग लगाएं।

Want to stay updated ?

x

Download our Android app and stay updated with the latest happenings!!!


50K+ people are using this